नगर निगम की जांच में पीने लायक निकला दिल्ली का पानी ?

दिल्ली में पानी को लेकर चल रहे घमासान में नया मोड़ आ गया है। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने भी माना है कि राजधानी में पीने का पानी साफ है। निगम ने हाल ही में जो नमूने लिए थे, वे सभी पास हो गए। हालांकि सियासी दबाव के चलते निगम के अधिकारियों ने इस रिपोर्ट को अब तक सार्वजनिक नहीं किया है।

कब लिए नमूने

 दिल्ली सरकार और केंद्र के बीच पानी को लेकर शुरू हुई तकरार के बीच नगर निगम के नेताओं ने अधिकारियों को विभिन्न इलाकों से नमूने लेने को कहा था। इसके बाद 25 और 26 नवंबर को विभिन्न इलाकों में 300 से अधिक पानी के नमूने लिए गए। सबसे अधिक सैंपल नजफगढ़ और मध्य जोन से उठाए गए। कुल 311 सैंपल की जांच की गई। सूत्रों के मुताबिक, ये सैंपल अंडर ग्राउंड रिजर्वायर (यूजीआर) से लिए गए हैं। यहां पानी को जमीन के नीचे एकत्र किया जाता है और फिर बाद में लोगों के घरों तक पीने के लिए सप्लाई होती है। अफसरों के मुताबिक, जांच में सभी सैंपल पीने योग्य पाए गए हैं। निगम ने विशेष तौर पर क्लोरीन की जांच के लिए पानी के सैंपल लिए थे। दक्षिणी निगम के जन स्वास्थ्य विभाग ने जनवरी से सितंबर 2019 तक सभी चार जोन से 7295 पानी के सैंपलों की जांच की थी। उसमें में भी पानी के सैंपल सही पाए गए थे।

बीआईएस की रिपोर्ट के बाद से सियासत तेज

गौरतलब है कि बीते दिनों भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) की एक रिपोर्ट में दिल्ली के पानी को पीने लायक नहीं बताया गया था। इसके बाद से ही दिल्ली में भाजपा और ‘आप’ के बीच पानी को लेकर राजनीति तेज हो गई थी। इसके बाद दिल्ली जल बोर्ड ने भी अपने स्तर पर जांच कराई थी जिसमें पीने के पानी के 98 प्रतिशत सैंपल पास हो गए थे।

100 फीसदी नमूने पास हो गए दक्षिणी नगर निगम की ओर से कराई गई जांच में

25-26 नवंबर को नमूने लिए
जोन सैंपल नेगेटिव
नजफगढ़ 104 00
पश्चिमी 64 00
दक्षिणी 39 00

 

जोन अनुसार जांच परिणाम
जोन सैंपल लिए नेगेटिव
मध्य 1390 00
दक्षिणी 1348 00
नजफगढ़ 1625 00
पश्चिमी 2932 00

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close