जब धर्मेंद्र के हाथों पिटते-पिटते बचे थे राजकुमार

धर्मेंद्र और राजकुमार को बाॅलीवुड के सबसे महान अभिनेताओं में गिना जाता है,लेकिन  इन दोनों बेहतरीन कलाकारों को हिंदी सिनेमा के सबसे गुस्सैल अभिनेताओं में भी गिना जाता था। जहाँ एक तरफ राजकुमार को काफी अकड़ू और मुँहफट्ट माना जाता था तो वहीं धर्मेंद्र अपने गुस्सैल स्वभाव के लिए काफी प्रख्यात रहे हैं।

राज कुमार एक बिंदास एक्टर थे। अपने दौर में राज कुमार की आलोचना इसलिए भी होती थी कि वो अपने समकालीन एक्टर्स की बहुत हंसी उड़ाया करते थे। जीनत अमान से लेकर गोविंदा तक की वो हंसी उड़ा चुके थे। लेकिन एक बार उनका पाला पड़ा धर्मेंद्र से।धर्मेंद्र उन एक्टर्स में से रहे जिनका कभी किसी से विवाद नहीं हुआ। लेकिन एक बार कुछ ऐसा हुआ था कि धर्मेंद्र गुस्से से तिलमिला उठे थे। ये किस्सा हुआ अपने जमाने के सुपरस्टार एक्टर रहे राज कुमार के साथ। राज कुमार की शख्सियत ऐसी थी कि वो लोगों के मिजाज को बहुत जल्द ही पहचान जाते थे।

साल 1986 में एक पार्टी के दौरान राजकुमार ने धर्मेंद्र पर एक ऐसा कमेंट कर दिया था जिसे सुनकर अभिनेता धर्मेंद्र गुस्से से आग बबूला हो गए थे और बात हाथापाई तक पहुँच गई थी।दरअसल राज कुमार अक्सर जीतेंद्र और धर्मेंद्र के बीच फर्क समझ नहीं पाते थे। राज कुमार अक्सर जीतेंद्र को धर्मेंद्र और धर्मेंद्र को जीतेंद्र कहकर पुकारते थे। एक दिन पार्टी में कुछ ऐसा हुआ कि राज कुमार की इस आदत से धर्मेंद्र काफी गुस्से में आ गए।

पार्टी के दौरान धर्मेंद्र जाम पर जाम चढ़ाए जा रहे थे, जब राजकुमार ने धर्मेंद को इस तरह शराब पीते हुए देखा तो उन्होंने  तंज कसते हुए कहा कि “इस पहलवान के पीने के अंदाज से तो ऐसा लगता है कि इसने आज से पहले कभी शराब देखी ही नहीं, लगता है पहलवान का इरादा आज शराब में डुबकी लगाने का है।”राजकुमार की यह बोली बिल्कुल गोली की तरह धर्मेंद्र के कानों में घुसी और उन्होंने आपा खो दिया, नशे में धुत धर्मेंद्र ने राजकुमार को पंजाबी में गालियां बकनी शुरु कर दीं।

राजकुमार की आदत थी कि पहले वो जख्म देते थे और फिर उस पर नमक छिड़क कर मजे लेते थे। धर्मेंद्र को गुस्से में देखते हुए भी राज कुमार ने कहा कि मेरे लिए चाहे राजेंद्र कुमार हो, जीतेंद्र हो धर्मेंद्र हो या फिर कोई बंदर हो क्या फर्क पड़ता है। जानी के लिए सब बराबर हैं। राज कुमार की इस बात से धर्मेंद्र काफी गुस्सा हुए थे।गुस्से में उबलते धर्मेंद्र को देख राजकुमार होठों में सिगार दबाये मंद-मंद मुस्कराते रहे, जिसने धर्मेंद्र के गुस्से में घी डालने का काम किया और वो तेजी से राजकुमार की तरफ झपटे इससे विचलित हुए बगैर राजकुमार ने ठहाका लगाना शुरु कर दिया।

धर्मेंद्र राजकुमार तक पहुँचते राज कपूर बीच में आ गये लेकिन राज कपूर साहब उन्हें संभाल नहीं पाये। मौके की नजाकत को देखते हुए शत्रुघन सिन्हा बीच में आ गए और वो धर्मेंद्र को खींचकर पार्टी से बाहर ले गये। अगर उस दिन शत्रुघन सिन्हा बीच में नहीं आते तो धर्मेंद्र से पिटने वालों की लिस्ट में राजकुमार का नाम भी शामिल हो जाता।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close