छत्तीसगढ़ विधानसभा में शराब को लेकर हंगामा

छत्तीसगढ़ विधानसभा के शीतकालीन सत्र का दूसरा दिन हंगामेदार रहा  सदन में मंगलवार को शराब की बिक्री की राशि को लेकर नोकझोंक हुई। राशि कोषालय में जमा नहीं होने का मामला सदन में उठाया गया, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़  के विधायक दल के नेता धरमजीत सिंह ने सदन में शराब बिक्री की राशि का मुद्दा उठाया। धरमजीत सिंह ने शराब की धन राशि को लेकर बड़े घोटाले की आशंका जताई है।

विधानसभा सत्र के दूसरे दिन धरमजीत सिंह ने कहा कि शराब बिक्री के 2 हजार 856 करोड़ रुपये की राशि कोषालय में जमा नहीं हुई है। इसपर सरकार की ओर से 2 हजार 856 करोड़ रुपये अन्य मद में खर्च करने की जानकारी की दी गई। इस पर धर्मजीत सिंह ने शराब बिक्री में अब तक करीब 10 हजार करोड़ रुपये के घोटाले की आशंका जताई। इस पर आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने अन्य मद में राशि खर्च होने की बात कही, मंत्री के जवाब से विपक्ष असंतुष्ट हो गया। हंगामे की स्थिति को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने जरूरत पड़ने पर जांच कराने का आश्वासन दिया।

इस मुद्दे पर भी हंगामा
विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन 4 हजार 546 करोड़ रुपये के दूसरे अनुपूरक बजट पर सदन में चर्चा शुरू होते ही हंगामे के आसार हो गए। बीजेपी नेता अजय चंद्राकर के वक्तव्य पर सदन में जोरदार हंगामा हो गया। अजय चंद्राकर ने पूरे कैबिनेट को असंवैधानिक कह दिया। इसके बाद सत्तापक्ष अजय चंद्राकर से माफी मांगने की मांग पर अड़ गया।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close