क्यूआर कोड से शराब के फुटकर विक्रेता परेशान

अगले वित्तीय वर्ष 2020-24 के लिए मंगलवार को कैबिनेट द्वारा मंजूर नई आबकारी नीति के कुछ प्रावधान फुटकर शराब व बियर विक्रेताओं को रास नहीं आ रहे हैं। फुटकर शराब विक्रेता एसोसिएशन के महामंत्री कन्हैया लाल मौर्यका कहना है कि शाम को 7 से 9 बजे के बीच शराब व बियर की दुकानों पर काफी भीड़ हो जाती है। ऐसे में हर बोतल पर अंकित क्यूआर कोड को स्कैन कर बिक्री करने में बहुत दिक्कतें आएंगी।

छोटे शहरों, कस्बों और ग्रामीण अंचलों में बिजली की आवाजाही बहुत रहती है। ऐसे में पी ओएस मशीन के संचालन में भी दुश्वारियां पेश आएंगी। उधर, नई नीति के क्रियान्वयन को लेकर गुरुवार को उर्दू अकादमी में बैठक बुलाई गई है।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close