अब 25 के बजाय 30 मार्च से होगी नहरबंदी

राजस्थान के जैसलमेर में गर्मी के मौसम के साथ ही पूर्व में 25 मार्च से प्रस्तावित नहरबंदी अब 30 मार्च से शुरू होगी। गौरतलब है कि नहर विभाग द्वारा 25 मार्च से नहरबंदी की जानी थी। लेकिन अब यह नहरबंदी आगामी 30 मार्च से शुरू होगी। जानकारी के मुताबिक फिलहाल नहरों में 1200 से 1500 क्यूसेक पानी चल रहा है। नहर विभाग के अधिकारियों ने किसानों से अपील की है कि जिन्होंने अभी तक पानी का स्टोरेज नहीं किया है। वे अब भी नहर से पानी का स्टोरेज कर सकते है। आगामी 30 मार्च से नहर में सिर्फ पीने का पानी ही छोड़ा जाएगा। जिसके 35 दिन बाद नहर में पूरी तरह से पानी बंद रहेगा।

नहर विभाग के अधिकारियों की माने तो किसानों ने अभी से नहर का पानी लेना बंद कर दिया है। किसानों को फसलों में जितने पानी की जरूरत थी किसानों ने फसलों के लिए उतना पानी ले लिया है। अब जिन किसानों ने पानी का स्टोरेज नहीं किया है वे अपनी डिग्गियों में पानी का स्टोरेज कर सकते है। इसके बाद अब 30 मार्च से नहर में सिर्फ पीने का पानी ही छोड़ा जाएगा।

35 दिन तक मिलेगा पीने का पानी, 35 दिन नहर रहेगी पूरी तरह से बंद

जैसलमेर में इस बार 70 दिन की नहरबंदी होगी। इसमें पहले 35 दिन सिर्फ पीने का पानी ही छोड़ा जाएगा। उसके बाद अगले 35 दिन तक नहर पूरी तरह से बंद रहेगी। फिलहाल फसलों के लिए पानी की जरूरत नहीं है, लेकिन नहरी क्षेत्र में रहने वाले व शहर में पानी की आपूर्ति के लिए पानी छोड़ा जाएगा। इसके साथ ही नहर विभाग के अधिकारियों ने जलदाय विभाग को अपनी डिग्गियां व जीएलआर पूरी तरह से भरने के लिए कह दिया है।

जैसलमेर में अब 30 मार्च से नहरों में सिर्फ पीने का पानी ही छोड़ा जाएगा। जिससे पूर्व सभी किसान व जलदाय विभाग अपने लिए पानी का स्टोरेज कर ले ताकि उन्हें बाद में परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। इसके साथ ही 35 दिन सिर्फ पीने के पानी के बाद अगले 35 दिन नहर पूरी तरह से बंद रहेगी। फिलहाल 1200 से 1500 क्यूसेक पानी चल रहा है। आगामी 30 मार्च के बाद नहर में सिर्फ 250 से 300 क्यूसेक पानी ही चलेगा, जो सिर्फ पीने के लिए ही उपयोग में लिया जा सकेगा।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close